ALL NATIONAL UTTARAKHAND ENTERTAINMENT CRIME POLITICS SPORTS WORLD DELHI HIMACHAL BUISNESS
ऑटोमोबाइल सेक्टर में हुए एक लाख लोग बेरोजगार
December 6, 2019 • Neeraj Ruhela • NATIONAL

देश के ऑटोमोबाइल क्षेत्र में पिछले एक साल से जारी सुस्ती का असर वाहन कलपुर्जा उद्योग और इससे जुड़े रोजगार पर भी पड़ रहा है। यही कारण है कि चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही यानी अप्रैल-सिंतबर अवधि में वाहन कलपुर्जा उद्योग के कारोबार में 10.1 फीसदी की गिरावट आई है और 1.99 लाख करोड़ रुपये से घटकर 1.79 लाख करोड़ रुपये रह गया। वहीं, इस साल जुलाई से लेकर अब तक इस उद्योग से जुड़ी एक लाख अस्थायी नौकरियां गई हैं।

ऑटोमोटिव कंपोनेंट मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन (एक्मा) के अध्यक्ष दीपक जैन ने शुक्रवार को कहा कि वाहन क्षेत्र में लंबे समय से मंदी जारी है। इस कारण इस अवधि में निवेश के मामले में दो अरब डॉलर का नुकसान हुआ है। पिछले एक साल से सभी श्रेणी के वाहनों की बिक्री लगातार घट रही है और इसका रोजगार पर भी असर पड़ा है। उन्होंने कहा कि कलपुर्जा उद्योग का विकास वाहन उद्योग पर निर्भर है। वर्तमान में वाहनों के उत्पादन में 15-20 फीसदी की कटौती से वाहन उपकरण उद्योग बुरी तरह प्रभावित हुआ है। नौकरियां जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि पिछले साल अक्तूबर से ही छंटनी का दौर जारी है। इस दौरान सबसे ज्यादा अस्थायी कर्मचारियों को नौकरी गईं। जीएसटी प्रणाली के तहत पहले से ही करीब 70 फीसदी वाहन कलपुर्जों पर 18 फीसदी जीएसटी लग रहा है। बाकी बचे 30 फीसदी पर 28 फीसदी जीएसटी लगता है। इसके अलावा 28 फीसदी जीएसटी के साथ वाहनों की लंबाई, इंजन के आकार-प्रकार के आधार पर वाहनों पर एक से 15 फीसदी का उपकर भी लग रहा है। उन्होंने कहा कि मांग में कमी, BS4 से BS6 उत्सर्जन मानकों के लिए हाल ही में किए गए निवेश से भविष्य के सभी निवेश रुक गए हैं।